कहानी -रास्ते का पत्थर (Roadblock) Motivational Stories In Hindi

प्रिये पाठकों, कैसे हो आप? उम्मीद करते है कि ठीक होंगे। और अगर नहीं है तो जल्द ही हो जाएँगे। हौसला रखे। आज की हमारी पहली कहानी आपको समस्याओं को दूसरे नज़रिए से देखने मे मदद करेगी। तो चलिए कहानी शुरू करते है:-

कहानी का शीर्षक : रास्ते का पत्थर – Roadblock

प्राचीन समय की बात है एक राजा ने अपने द्वारपालों से कह कर गाँव की मुख्य सड़क पर एक बड़ा-सा पत्थर रखवा दिया। अब उस रास्ते से जो भी गुज़रे सभी उस बड़े से पत्थर को देखते और राजा को गाली देते कि राजा सड़क साफ़ नहीं कराता।

यह भी पढ़े :- बुधवार व्रत विधि व कथा। Budhvaar Vrat vidhi aur Katha.

यहाँ तक कि राजा के महल में सफ़ाई का काम करने वाले से लेकर मंत्री तक सभी ने राजा को ही खरी-खोटी सुनाई। थोड़ी देर बाद वहाँ से एक किसान गुज़रता है जिसके हाथ मे कुछ सब्जी के थैले होते है।वह उन थैलो को सड़क के किनारे रखता है और पत्थर की हटाने की कोशिश करता है। मगर इतना बड़ा पत्थर हटाने मे उसे बहुत परेशानी होती है।

फिर भी वह कोशिश करता है और अंततः रास्ते का पत्थर हटा देता है। जब वह वापिस अपना सामान उठा कर मुड़ता है तो उसे एक पर्स वहाँ दिखता है। वह उसे खोल कर देखता है तो उसमें सोने के सिक्के व राजा की एक चिट्ठी मिलती है। जिसमें लिखा होता है कि यह सोने के सिक्के उस व्यक्ति के लिए है जिसने यह पत्थर हटाया।

हम सबके जीवन मे भी कई सारी बाधाएँ (roadblocks) आती है और सिर्फ हमारे जीवन मे ही नहीं बल्कि सभी के जीवन मे आती है। हर समस्या अपने साथ समाधान ले कर आती है। इसलिए हमें समस्याओं पर नहीं समाधान पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए।

यह भी पढ़े :- इन Homemade Natural Morning और Night Skin care routine Beauty tips से पाए बेदाग निखरी त्वचा

यदि हमारे जीवन मे कोई समस्या आती भी है तो वह अपने साथ सीख या तो सबक या तो अवसर ले कर आती है। फ़र्क़ है तो सिर्फ नज़रिये का।

आज की हमारी दूसरी कहानी है एक ऐसे इंसान की जो बहुत famous है हो सकता है कि आप उन्हें जानते हो तो चलिए कहानी शुरू करते है:-

शीर्षक : मिल मजदूर से अभिनेता बनने तक का सफ़र

वह कनाडा मे पैदा हुए थे। उनकी माँ बहुत बीमार थी इसलिए वह ज़्यादातर समय अपनी माँ के साथ ही बिताते थे। उन्हें खुश रखने की कोशिश करते थे। उनके पिता accountant के पद पर काम करते थे जो कि एक safe job थी।

उनके पिताजी musician बनना चाहते थे मगर उन्हें वह practical नहीं लगा। इसलिए उन्होंने अपना सपना छोड़कर एक safe job को choose किया।

सब कुछ ठीक चल रहा था कि एक दिन उनके पिताजी की नौकरी छूट गयी। उनके पिताजी ने बहुत कोशिश की कि उन्हें एक नई job मिल सके मगर उन्हें कोई नौकरी नहीं मिली।

यह भी पढ़े :- अकबर और बीरबल की कहानी – जो होता है, अच्छे के लिए होता है।

समय बीतता गया, सभी savings खत्म हो गई और हालात इतने खराब हो गए कि उन्हें van मे रहना पड़ा। वह सिर्फ़ 15 वर्ष के थे जब उन्होंने एक स्टील फैक्ट्री मे काम करना शुरू किया ताकि वह अपनी family को support कर सके।

उनकी पूरी ज़िंदगी उनके सामने थी। उन्हें लगने लगा था कि उनकी पूरी ज़िंदगी मिल मे काम करते ही गुज़रेगी। कुछ ओर बनने का सोचना भी मुश्किल था।

उस समय उन्हें उनके पिताजी की ज़िंदगी से सबसे बड़ी सीख मिली कि उनके पिताजी ने तो अपने सपनो को छोड़कर safer option choose किया था मगर फिर भी वे नाकामयाब रहे।

उन्होंने सोचा कि आप चाहे कुछ भी करो मगर success और failure निश्चित नहीं है तो क्यों न कुछ ऐसा किया जाए जो आपको पसंद है। अगर आप fail हो भी जाते है तो कम से कम आपने वो तो किया जो आपको पसंद था।

यह भी पढ़े :- माँ के जन्मदिन पर क्या तोहफ़ा दे ? Birthday Gift For Mom

उन्होंने पहचाना कि उन्हें लोगों को हँसाना बहुत पसंद है। वे stand-up comedian और actor बनना चाहते हैं और वह अपनी पूरी ज़िंदगी यहीं करना चाहते हैं।

जब वह 16 वर्ष के हुए तो उनके पिताजी उन्हें उनके पहले stand-up performance के लिए लेकर गए थे। वह पहला performance उनका बहुत बड़ा failure रहा। उसमे कोई नही हँसा। वो निराश हो गए और उन्हें अपने फैसले पर doubt होने लगा।

मगर वो जानते थे कि वो वहीं काम कर रहे हैं जो उन्हें करना अच्छा लगता है। उन्हें बस ओर मेहनत करने की जरूरत है। बस फिर क्या था उन्होंने ओर कोशिश की, ओर मेहनत की। धीरे-धीरे उनमें सुधार होता चला गया।

ये समय था उनके दूसरे performance का। इसबार उन्होंने इतना अच्छा किया कि उन्हें standing ovation मिला। अब वो ओर बड़े सपने देखने लगे। वो actor बनना चाहते थे।

अपने सपने पूरे करने के लिए वे अमेरिका चले गए। महीने बीतते गए, उन्होंने कई audition दिए मगर कहीं काम नहीं मिला। उन्हें उम्मीद थी और वो hollywood के sign को देखते रहते थे और कल्पना करते रहते थे कि directors उन्हें काम के लिए बुला रहे हैं, उन्हें फ़िल्म मे काम करने के लिए sign कर रहे हैं। उनके fans उनसे autograph माँग रहे हैं।

उस समय उनके पास कुछ नहीं था सिर्फ़ उम्मीद थी और उनके सपने थे। एक दिन उन्होंने खुद को 10 मिलियन डॉलर post-dated cheque लिखा जो पाँच साल बाद का था। उन्होंने निश्चय किया कि वे इतने पैसे उस तारीख से पहले कमाएंगे।

यह भी पढ़े:- How to Learn Faster – simple Memory technique for students In Hindi

कहते है ना अगर आप सच्चे दिल से किसी को चाहो और उसके लिए प्रयास करो तो पूरी क़ायनात उसे तुमसे मिलाने की कोशिश करती है। उनके साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ। जल्द ही वह actor बन गए। कुछ सालों बाद उन्हें एक फ़िल्म मे acting करने के लिए 10 मिलियन डॉलर का cheque मिला।

वह movie बहुत बड़ी हिट मूवी थी। नाम था- Dumb and Dumber और अब वह कनाडा का छोटा सा बच्चा hollywood का बहुत बड़ा actor बन चुका था। उस actor का नाम है – Jim Carrey

वे अगर कोशिश नहीं करते तो आज भी किसी मिल मे मजदूर होते। मगर उन्होंने बड़ा सोचा, कामयाब बनने का सोचा और जी तोड़ मेहनत की।

ये हमारे साथ भी हो सकता है अगर हम बड़ा सोचने से डरे नहीं। हम खुद पर शक करते है, अपनी क्षमता पर शक करते है और सोचते है कि ये practical नहीं है या हम नही कर सकते। ये सिर्फ़ हमारा मानसिक रुकावट (mental barrier) होता है और कुछ नहीं।

यह भी पढ़े :- Motivational Story In Hindi हिंदी में प्रेरक कहानियाँ 2020

आप भी comment section में अपने goal या target लिखो और 100% कोशिश करो उसे achieve करने की।

1 thought on “कहानी -रास्ते का पत्थर (Roadblock) Motivational Stories In Hindi”

Leave a Reply